अटलजी हिंदू-मुस्लिम के बीच भाईचारे की बात करते थेः शाही इमाम बुखारी

नई दिल्ली
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी से गहरा रिश्ता रहा है। वाजपेयी के निधन की खबर से सैयद अहमद बुखारी बेहद दुखी हैं। उन्होंने वाजपेयी से जुड़ी यादों को साझा किया। उनके मुताबिक, वाजपेयी साहब हमेशा पार्टी से ऊपर उठकर बात करते थे। उनसे काफी अच्छे ताल्लुकात रहे। उनसे कई बार मुलाकात हुई। उन्होंने बताया कि वाजपेयी साहब के साथ करीब से मेरी यादें जुड़ी हैं। हमने उनका दौर बहुत देखा है। अगर में उस जमाने की बात करूं तो उनके भाषण सुनने के लिए हजारों लोग जाया करते थे। उनमें से एक मैं भी था। बड़ा उत्साह रहता था। मुझे वाजपेयी साहब के भाषण सुनने का बहुत शौक था, जो उनके सीधा सपाट लहजे में बोलने का अंदाज था। सुलझे हुए शब्दों में बोला करते थे।

बात 1977 की है, जब वह जामा मस्जिद आए। तमाम हालात पर उन्होंने बात की। तब से हमारे ताल्लुकात उनसे बेहद दोस्ताना रहे। अक्सर उनसे मैं मुलाकातें किया करता था। कभी-कभी वाजपेयी साहब मुझे फोन करके बुला भी लिया करते थे। वाजपेयी साहब नेकदिल इंसान थे, मैं उनको बेहतरीन शख्सियत के तौर पर देखता हूं।

उन्होंने कहा कि अगर कोई हिंदू-मुसलमान के बीच दूरियों की बात करता था तो वो अक्सर कहते थे कि ये देश के लिए अच्छा नहीं है। हिंदू-मुसलमान के बीच भाईचारे को पसंद करते थे। वाजपेयी साहब हर समुदाय में लोकप्रिय थे। उनका दौर सबसे अच्छा रहा। हम उनको दिल से कभी भूल नहीं सकते। मुझे याद है जब वो प्राइम मिनिस्टर थे, तब मैंने उनसे कश्मीर के बिगड़े हालात में बात की। उस वक्त रमजान भी करीब था। सीजफायर की बात की। उस दरम्यान उन्होंने मुझे भी कश्मीर में अमन चैन के लिए कोशिश करने को कहा। हमने कोशिश की और उन्होंने भी पूरा साथ दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *