क्रिकेट : शास्त्री के खुलासे के बाद उठे सवाल |

क्रिकेट / जडेजा फिट नहीं थे तो पर्थ में उनसे फील्डिंग क्यों कराई गई, शास्त्री के खुलासे के बाद उठे सवाल

 

  • कोच ने कहा- ऑस्ट्रेलिया रवाना होने से पहले से ही जडेजा के कंधे में जकड़न थी
  • भारतीय टीम के स्पिनर ने ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद भी इंजेक्शन लिए थे

Dec 23, 2018, 04:43 PM IST

मेलबर्न. स्पिनर रविंद्र जडेजा रणजी ट्रॉफी में खेलने के दौरान से ही शोल्डर स्टिफ (कंधे में जकड़न) की समस्या से जूझ रहे थे। ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के चार दिन बाद उन्हें इंजेक्शन भी दिए गए थे। कोच रवि शास्त्री रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह खुलासा किया। उसके बाद से ही भारतीय क्रिकेट टीम के इंजरी मैनेजमेंट सवाल उठ रहे हैं कि यदि जडेजा पूरी तरह फिट नहीं थे तो पर्थ टेस्ट के लिए घोषित की 13 सदस्यीय टीम में उन्हें क्यों शामिल किया गया? उनसे उस टेस्ट में फील्डिंग क्यों कराई गई?

 

 

 

कंधे में परेशानी के बावजूद जडेजा ने घरेलू क्रिकेट खेला
शास्त्री ने बताया, ‘जडेजा के साथ समस्या थी। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया आने के चार दिन बाद एक इंजेक्शन लिया था क्योंकि उनके कंधे में कुछ जकड़न थी।’ जब वे सौ फीसदी फिट नहीं थे, तो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया का दौरा क्यों किया के सवाल पर शास्त्री बोले, ‘इंजेक्शन का असर होने में कुछ समय लगा। जब वे भारत में थे तभी उनके कंधे में थोड़ी जकड़न थी, लेकिन उन्होंने घरेलू क्रिकेट खेला। ऑस्ट्रेलिया आने पर उन्हें फिर जकड़न महसूस हुई, जिसके बाद उन्हें इंजेक्शन लगाया गया।’

 

जडेजा को रिकवर होने में तय समय से ज्यादा समय लगा : शास्त्री

शास्त्री ने स्वीकार किया कि जितना अंदाजा लगाया गया था, जडेजा को रिकवर होने में उससे ज्यादा समय लगाया। उन्होंने कहा, ‘जडेजा की रिकवरी में हमें उम्मीद से अधिक समय लगा। हम सावधान रहना चाहते हैं। आखिरी चीज जो आप चाहते हैं कि यदि कोई खिलाड़ी 5-10 ओवर करने के बाद परेशान हो रहा है तो मेलबर्न और सिडनी टेस्ट के लिए उसे नहीं चुनेंगे।’

 

80% फिट होने पर जडेजा मेलबर्न में खेलेंगे

कोच ने कहा, ‘यदि हम पीछे मुड़कर देखें तो हमने सोचा था कि पर्थ टेस्ट तक वे 70-80 फीसदी फिट हो जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और हम दूसरे टेस्ट में कोई खतरा मोल नहीं लेना चाहते थे। यदि वे यहां 80 फीसदी फिट रहे तो खेलेंगे। फिटनेस टीम इंडिया के लिए बड़ी समस्या है।’ रोहित शर्मा अपनी पीठ की चोट से उबर चुके हैं। उन्होंने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर अभ्यास सत्र में भी हिस्सा लिया। हालांकि, अश्विन के बारे में अगले 48 घंटे में ही कोई फैसला लिया जा सकेगा।

 

अश्विन पर फैसला अगले 48 घंटे में

अश्विन पेट की मांसपेशियों के खिंचाव के कारण वे पर्थ टेस्ट में नहीं खेल पाए थे। भारत वह टेस्ट 146 रन से हार गया था। शास्त्री ने कहा, ‘बॉक्सिंग डे टेस्ट के लिए अश्विन काफी बेहतर महसूस कर रहे हैं। हम अगले 48 घंटों में एक बार फिर उनका जायजा लेंगे और मूल्यांकन करने के बाद ही तय करेंगे कि अगले मैच के लिए अश्विन तैयार हैं या नहीं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *