कांग्रेस : पार्टी में ऐसे नेताओं को बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा, राहुल गांधी का बड़ा संदेश |

 

नई दिल्‍ली , तीन विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन से पार्टी अध्‍यक्ष राहुल गांधी के हौसले काफी बुलंद हो गए हैं। राहुल गांधी ने पार्टी के सदस्‍यों को बड़ा संदेश देते हुए कहा है कि एक तरफ जहां मेहनती कार्यकताओं को सराहा जाएगा, वहीं गलतबयानी और पार्टी विरोधी गतिविधियों को बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा।

दरअसल, कांग्रेस को पार्टी के कई नेताओं द्वारा दिए गए बयानों की वजह से काफी नुकसान उठाना पड़ता रहा है। विपक्ष ने भी इन बयानों का काफी लाभ उठाया। लेकिन राहुल गांधी अब ऐसा बिल्‍कुल नहीं चाहते हैं। सूत्रों की मानें तो राहुल गांधी ने पार्टी के सदस्‍यों को साफ संदेश दे दिया है कि गलतबयानी बिल्‍कुल भी बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी। वहीं पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल नेताओं के खिलाफ भी सख्‍त कदम उठाए जाएंगे।

बता दें कि राजस्थान मंत्रिमंडल विस्तार में आज 23 मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी। मंत्रिपरिषद में 22 कांग्रेसी विधायक और राष्ट्रीय लोकदल के एक विधायक को जगह दी जा रही है। मंत्रिमंडल में 13 कैबिनेट और 10 राज्य मंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है। तीन दिन चले मंथन के बाद आखिर राजस्थान का मंत्रिमंडल तय हो गया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के साथ चर्चा के बाद 23 मंत्री तय किए। इन्हें सोमवार सुबह 11:30 बजे राजभवन में राज्यपाल कल्याण सिंह शपथ दिलाएंगे। इनमें 13 कैबिनेट व 10 राज्यमंत्री होंगे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट 17 दिसंबर को शपथ लेने के बाद तीन दिन तक नई दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ मंत्रिमंडल के गठन को लेकर बैठक करने के बाद रविवार जयपुर लौटे। शपथ समारोह सोमवार को 11.30 बजे जयपुर में आयोजित हो रहा है।

सूत्रों के अनुसार मंत्रिमंडल के गठन के लिये आयोजित बैठकों में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और राजस्थान के प्रभारी अविनाश पांडे, कांग्रेस के पर्यवेक्षक के सी वेणुगोपाल और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी भी शामिल थे। और कांग्रेस ने 2019 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर सियासी समीकरण बैठाने की कोशिश की है।

मंत्रिमंडल पर नजर डालें तो 18 विधायक पहली बार मंत्री बनेंगे, जबकि पहली बार चुनकर आए 25 से अधिक विधायकों में से किसी को भी मंत्री नहीं बनाया है। 11 महिला विधायकों में से एकमात्र सिकराय विधायक ममता भूपेश मंत्री होंगी। मुस्लिमों में भी सिर्फ पोकरण विधायक सालेह मोहम्मद को मौका दिया है। और गठबंधन के दल आरएलडी से विधायक सुभाष गर्ग भी मंत्री होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *