फ्रांस सरकार ने ‘नए राफेल’ बनाने का दिया ऑर्डर, एक विमान की कीमत होगी 567 करोड़ रुपये |

फ्रांस सरकार ने दशॉल्ट एविएशन के साथ 28 उन्नत राफेल विमानों के लिए 2 बिलियन यूरो के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं। ये विमान एफ 4 मानक वाले होंगे और 2024 तक तैयार किए जाएंगे। जो कि इसके कुछ खास फीचर 2022 तक विकसित हो जाएंगे। और भारत में जो राफेल आएंगे, उनके मुकाबले ये लड़ाकू जहाज हर तरीके से बेहतर बताए जा रहे हैं। इनकी मारक क्षमता ज्यादा होगी। साथ ही 4-एफ राफेल में नए हथियार, जिनमें हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल भी शामिल है, फिट किए जा सकेंगे।

और सभी 28 उन्नत राफेल विमान एफ 4 मानक से लैस होंगे और फ्रांस एयरफोर्स को इनकी सप्लाई 2023 तक शुरू हो जाएगी। जो कि रक्षा मंत्री फ्लोरेंस परली के मुताबिक, 2023 में एफ 4 मानक वाले 30 और विमानों का ऑर्डर दिया जाएगा जिनकी डिलीवरी 2027 और 2030 में होगी। अनुबंध के मुताबिक, एक विमान की कीमत 567 करोड़ रुपये होगी, जबकि भारत को जो राफेल मिल रहे हैं, उसका दाम 16 सौ करोड़ रुपये से लेकर 17 सौ करोड़ रुपये के बीच बताया जा रहा है।

भारत को पुरानी तकनीक वाले राफेल दिया गया 

सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता प्रशांत भूषण का कहना है कि फ्रांस सरकार राफेल का अपडेट वर्जन खरीद रही है। खास बात है कि 28 अपडेट राफेल की कीमत 2 बिलियन यूरो रखी गई है, जबकि मोदी सरकार जो राफेल खरीद रही है, उनकी कीमत 7.87 बिलियन है। भूषण के मुताबिक, भारत सरकार ने फ्रांस को करीब ढाई गुना ज्यादा कीमत अदान की है। इसका मतलब अंबानी को कथित तौर पर 30 हजार करोड़ रुपये का कमीशन बतौर ऑफसेट कॉंटेक्ट दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *