मिशन 2019: पीएम मोदी की कोशिश रंग लाई , AIADMK के साथ गठबंधन के संकेत |

चेन्नई: 2019 के लोकसभा चुनाव में महज पांच माह से कम का समय बचा है. अब सपा-बसपा ने उत्तर प्रदेश में गठबंधन बनाकर चुनाव मैदान में उतरने की घोषणा कर दी है. बिहार समेत अन्य राज्यों में भी महागठबंधन के प्रयास किए जा रहे हैं. इसी बीच, बीजेपी के लिए कुछ राहत की खबर दक्षिण भारत से आई है. जो की बीजेपी को एक नया साथी मिल सकता है. जी हां, बात तमिलनाडु की स्त्तारूढ़ पार्टी एआईएडीएमके की हो रही है.

तमिलनाडु में सत्तारूढ़ एआईएडीएमके ने सोमवार को संकेत दिए कि उसे आगामी लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी के साथ चुनावी गठबंधन करने से कोई गुरेज नहीं है. एआईएडीएमके में पार्टी का शीर्ष पद ‘समन्वयक’ संभालने वाले उपमुख्यमंत्री और पनीरसेल्वम ने पत्रकारों से कहा, “चुनाव के समय, कुछ भी घटित हो सकता है.”

उनके इस जवाब को उस स्पष्ट संकेत के रूप में देखा जा रहा है कि एआईएडीएमके को भगवा पार्टी के साथ चुनावी गठबंधन करने से कोई गुरेज नहीं है. और पनीरसेल्वम से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाल में दिए गए उस बयान के बारे में पूछा गया था जिसमें उन्होंने (प्रधानमंत्री) कहा था कि बीजेपी अपने पुराने सहयोगियों की हमेशा से कद्र करती रही है और वह गठबंधनों के लिए तैयार रही है.

और अब उन्होंने मदुरै में पत्रकारों से कहा, “एआईएडीएमके एक “उपयुक्त गठबंधन, मेगा गठबंधन और लोगों द्वारा पसंद किए जाने वाले गठबंधन की घोषणा करेगा.” उन्होंने कहा,‘‘जब भी चुनाव की घोषणा होती है, चाहे वह संसदीय चुनाव हो या स्थानीय निकाय चुनाव, एआईएडीएमके पूरी तैयारी के साथ लड़ने और जीतने के लिए तैयार है.”अब इस बीच, बीजेपी की राज्य इकाई की अध्यक्ष तमिलिसाई सौंदर्यराजन ने चेन्नई में कहा कि उनकी पार्टी द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन में शामिल दलों के अलावा किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन करने के लिए तैयार है. उन्होंने कहा कि बीजेपी उन पार्टियों के साथ गठबंधन करेगी जिनका प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विश्वास है और जो विकास के एजेंडे और सुशासन के मार्ग पर चलने के लिए  तैयार भी की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *